Search This Blog

Saturday, 5 June 2021

सबसे कम उम्र के आईपीएस बने सफीन हसन

 सबसे कम उम्र के आईपीएस बने सफीन हसन

सफीन हसन एक  मध्यम वर्गीय परिवार से आते हैं ! उनका जन्म 21 जुलाई 1995 के गुजरात के बनासकांठा जिले में हुआ था सर बताते हैं कि उन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई गांव के ही विद्यालय में गुजराती माध्यम में पूरी की ! यहां पर उन्होंने दसवीं तक की शिक्षा गुजराती माध्यमिक  मैं प्राप्त की उसके बाद उन्होंने 11वीं और 12वीं कक्षा में एक प्राइवेट स्कूल में दाखिला ले लिया ! और 12वीं क्लास क्लास में सफिन हसन बहुत ही होनहार विद्यार्थी थे मगर उनके घर की हालत इतनी अच्छी नहीं थी कि वह आगे की पढ़ाई पूरी कर सके, पारिवारिक हालत ठीक न होने के कारण प्रिंसिपल फीस माफ करने का फैसला किया !


सबको  बारहवीं कक्षा में 92% अंक प्राप्त हुए थे इसके बाद उन्होंने आईआईटी से इंजीनियरिंग की परीक्षा होती उनकी सफिन हसन के माता-पिता गुजरात में एक डायमंड कारखाने में काम करते थे ! जब उनके पिताजी की मजदूरी छोड़ी तो पिता जी ने इलेक्ट्रिशियन का काम किया उसके साथ-साथ अंडे का ठेला भी लगाएंगे कई बार पिता के साथ काम करना पड़ता था लेकिन उन्होंने इसमें कभी शर्मिंदगी महसूस नहीं की ! वह अपने पिताजी के साथ उनका हाथ  बता देते थे !और उनकी मां रोटी बेलने का काम करती थी 


 सफिन हसन  ने कॉलेज की अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने आईएएस और आईपीएस की परीक्षा देने का फैसला किया इसके लिए उन्होंने यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी है वह दिल्ली जाकर तैयारी करना चाहते थे मगर उनके पास इतने पैसे नहीं थे कि वह दिल्ली जाकर कमरा लेकर उसे तैयारी कर सके ! 


इसके लिए सफिन हसन के ही गांव की एक हुसैन भाई सामने आए उन्होंने उनकी पत्नी ने मिलकर सफिन हसन के दिल्ली में रहकर पढ़ाई करने का सारा खर्चा अपने जिममें ले लिया ले लिया और इस तरह से उन्होंने एक सही निर्णय लिया और बाद में सफिन हसन ने उसको सही साबित कर दिया हम आपको बताते चलें कि सफिन हसन ने यूपीएससी 2017 में 570 वीं रैंक हासिल करके मात्र 22 साल की उम्र में भारत के सबसे कम उम्र के आईपीएस बनने का गौरव हासिल किया!


अगर सफिन हसन की माने तो वह खुद अपनी स्पीच में कई बार कह चुके हैं कि आपको हार्ड वर्क के सांसद स्मार्ट वर्क करना ही पड़ेगा तब आपका लक आपके साथ आ ही जाएगा लेकिन सबसे पहली बार जरूरी यह है कि आपको खुद से फैसला करना है !खुद से पूछना है कि…

  • आपको करना क्या है?  

  • आपको बनना क्या है ? 

  • आपकी मंजिल क्या है ? 

  • आप कहां जाना चाहते हैं ? 


जब इन सारे सवालों के जवाब आप खुद से हासिल कर लेंगे तो वह दिन दूर नहीं कि जब आप अपनी मंजिल को पा लेंगे लेकिन इसके लिए जरूरी है कि आप खुद से यह फैसला करें खुद से यह वादा करें कि हां मैं कर सकता हूं और यकीन जानिए कि आप जब यह फैसला कर लेंगे कि आपको आईएएस आईपीएस बनना है तो भी आपका साथ देगा लेकिन जब तक आप खुद से फैसला नहीं करेंगे स्मार्ट वर्क नहीं करेंगे तब तक  किस्मत भी आपका साथ नहीं देगी !


आईपीएस की 2 साल की ट्रेनिंग पूरी करने के बाद जो सबसे पहली जॉइनिंग सफिन हसन को मिली वह ASP जामनगर के रूप में की थी |





No comments:

Post a Comment